VIRGOLIV SYRUP वर्गोलीव सीरप
VIRGO UAP PHARMA VIRGOLIV SYRUP वर्गोलीव सीरप  - 200ml

VIRGO UAP PHARMA

VIRGOLIV SYRUP वर्गोलीव सीरप

₹ 145


Cash On Delivery Available

  • null

Delivery Options

Out of Stock

वर्गोलीव सीरप यकृत-प्लीहा उत्तेजक, यकृतरक्षक, पाचक, कृमिनाशक तथा रक्तशोधक द्रव्यों के संयोजन से बना एक उत्तम योग है। यह सभी प्रकार के यकृत प्लीहा रोगों के लिए उत्तम है।

वर्गोलीव सीरप :
-सुस्त यकृत - प्लिहा को उत्तेजित कर पित्त स्त्राव को नियमित करता है ।

-यकृत संबंधित सभी प्रकार के रोग एवं परेशानियों को प्रभावशाली तरीके से रोकता है।

-यकृत-प्लीहा वृद्धि को ठीक कर उनके सामान्य कार्यो को बहाल करता है ।

-यकृत को सभी प्रकार के संक्रमण से बचाके उनको स्वस्थ रखता है ।

-यकृत की कोशिकाओं के पुनःनिर्माण में सहायता करता है एवं वसायुक्त अंतःसरण को रोकता है ।

-भूख एवं पाचन शक्ति को बढ़ावा देता है ।

-सभी प्रकार के कृमिजन्य संक्रमणों में प्रभावी तरीके से कार्य करता है|

घटक द्रव्य:-
प्रत्येक १० मि. ली. में समाविष्ट है ।
भृंगराज सत्व (Eclipta alba) २० मि.ग्रा.
चित्रक सत्व (Plumbago zeylanica) २० मि.ग्रा.
कालमेध सत्व (Androgaphis paniculata) २० मि.ग्रा.
पुनर्नवा सत्व (Boerhavia diffusa) २० मि.ग्रा.
काकमांची सत्व (Solanum nigrum) १२ मि.ग्रा.
रोहीतक सत्व (Tecomella undulata) १६ मि.ग्रा.
कटुकी सत्व (Picrorhiza kurroa) ८ मि.ग्रा.
पाठा सत्व (Cissampelos pareira) १२ मि.ग्रा.
निशोथ सत्व (Operculina turpethum) १२ मि.ग्रा.
विडंग सत्व (Embelia ribes) १२ मि.ग्रा.
कासनी सत्व (Cichorium intybus) १६ मि.ग्रा.
भूमि आमलकी सत्व (Phyllanthus niruri) १६ मि.ग्रा.
गुडुची सत्व (Tinospora cordifolia) १२ मि.ग्रा.
सरपंखा सत्व (Tephrosia purpurea) ८ मि.ग्रा.
पीपली सत्व (Piper longum) ८ मि.ग्रा.
दारुहरिद्रा सत्व (Berberis aristata) १० मि.ग्रा.
कासुंद्रा बीज सत्व (Cassia occidentails) १२ मि.ग्रा.
स्वादिष्ट सीरप बेज क्यू. ऐस.
कलर : एरिथ्रोसिन

व्याधिनिर्देश :
संक्रमित यकृतशोथ 
यकृत-प्लीहा वृद्धि
कामला
मंदाग्नि एवं अपचन
कृमि
यकृत शक्तिवर्धक

मात्रा : बच्चे: १/२ से १ चम्मच दिन में तीन बार वयस्क : १ से २ चम्मच दीन में तीन बार या चिकित्सक के परामर्शानुसार।


No Customer Reviews

Share your thoughts with other customers

Out of Stock