TONOVIT SYRUP टोनोविट सीरप
VIRGO UAP PHARMA TONOVIT SYRUP टोनोविट सीरप  - 200ml
  • VIRGO UAP PHARMA TONOVIT SYRUP टोनोविट सीरप  - 200ml
  • VIRGO UAP PHARMA TONOVIT SYRUP टोनोविट सीरप  - 200ml

VIRGO UAP PHARMA

TONOVIT SYRUP टोनोविट सीरप

₹ 125


Cash On Delivery Available

  • null

Delivery Options


वर्गो टोनोविट सीरप शक्तिवर्धक आयुर्वेदिक टोनिक
टोनोविट सीरप बलवर्धक, कामोद्दीपक, रोगप्रतिरोधक एवं पाचनशक्तिवर्धक औषधियों के योग से बना है। 
यह एक शक्तिदायक, मानसिक-शारीरिक एवं कामशक्तिवर्धक टोनिक है। 
जो सभी उम्र के लिए लाभदायक है। 
यह वृद्धावस्था में विशेषतौर पर लाभदायक है।

घटक द्रव्य:-
प्रत्येक १० मि.ली. में समाविष्ट द्रव्य सत्व :-
अश्वगंधा (Withania somnifera) ४०० मि.ग्रा., शतावरी (Asparagus racemosus) २०० मि.ग्रा., 
कौच बीज (Mucuna pruriens) १५० मि.ग्रा., गोक्षुर (Tribulus terrestris) १५० मि.ग्रा., गुडुची (Tinospora cordifolia) १०० मि.ग्रा., विदारीकंद (Pueraria tuberosa ) १०० मि.ग्रा., त्रिकटु १५० मि.ग्रा., जातिफल (Myristica fragrans) ५० मि.ग्रा., यष्टिमधु (Glycyrrhiza glabra) १०० मि.ग्रा., मंजिष्ठा (Rubia cordifolia) १०० मि.ग्रा., द्राक्ष (Vitis vinifera) ३०० मि.ग्रा., अनंतमूल (Hemidesmus indicus) १०० मि.ग्रा., पिपली (Piper longum) १०० मि.ग्रा., अर्जुन (Terminalia arjuna) १०० मि.ग्रा., भृंगराज (Eclipta alba) १०० मि.ग्रा., चित्रक (Plumbago zeylanica ) १०० मि.ग्रा., ब्राह्मी (Bacopa monnieri) १०० मि.ग्रा., स्वादिष्ट सीरप बेज क्यू. एस., कलर : सनसेट यलो एफ.सी.एफ.।

टोनोविट सीरप :
शारीरिक रोग प्रतिरोधक क्षमता को बढाता है जीससे शरीर को आन्तरिक एवं बाह्य संक्रमण से सुरक्षित रखता है। 
कामोत्तेजना को बढाता है एवं वृद्धावस्था में भी लाभदायक है । चिरकालीन कमजोर एवं उच्च रक्तचाप से पीड़ितो को भी लाभदायक है।
यकृत एवं पाचन तंत्र को सक्रिय करता है, विटामीन, प्रोटीन, लोह, वसा के उपापचय क्रिया को बढ़ाता है।
बहुत अच्छा रोगप्रतिरोधक है, अपजनन को रोकता है, मानसिक तनाव कम करके अच्छी निद्रा प्रदान करता है।

व्याधिनिर्देश :-
कामवासना, मैथुन में कमी
तनाव
कमजोरी 
अनिद्रा
शक्तिवर्धक टोनिक
चिंता 
सभी प्रकार के दीर्घकालीन रोग एवं उपापचय रोगों में बलवर्धक है।

मात्रा:-
बच्चे : 1 से 2 चम्मच दिन में तीन बार । 
वयस्क : 2 से 4 चम्मच दिन में तीन बार या चिकित्सक के परामर्शानुसार।

सा.:- वि. प. पु.।


No Customer Reviews

Share your thoughts with other customers