DRAKSHAVLEHA (Kesar Yukta) द्राक्षावलेह केशर युक्त
KRISHNA GOPAL AYURVED BHAWAN, KALERA DRAKSHAVLEHA (Kesar Yukta) द्राक्षावलेह केशर युक्त - 250gm
  • KRISHNA GOPAL AYURVED BHAWAN, KALERA DRAKSHAVLEHA (Kesar Yukta) द्राक्षावलेह केशर युक्त - 250gm
  • KRISHNA GOPAL AYURVED BHAWAN, KALERA DRAKSHAVLEHA (Kesar Yukta) द्राक्षावलेह केशर युक्त - 250gm
  • KRISHNA GOPAL AYURVED BHAWAN, KALERA DRAKSHAVLEHA (Kesar Yukta) द्राक्षावलेह केशर युक्त - 250gm

KRISHNA GOPAL AYURVED BHAWAN, KALERA

DRAKSHAVLEHA (Kesar Yukta) द्राक्षावलेह केशर युक्त

5.0
Ratings

₹ 525


Delivery Options


द्राक्षावलेह (केशरयुक्त) के लाभ कई हैं, जैसे:

  1. लीवर की कमजोरी को दूर करना।
  2. शरीर को बल प्रदान करना।
  3. विभिन्न विटामिन्स और खनिज की कमी को दूर करना।
  4. खून की कमी को दूर करना।
  5. ऊर्जा का संचार करना।
  6. कफ, खांसी, जुकाम और स्वस्थ श्वसन तंत्र के विकारों को दूर करना।
  7. रोग प्रतिरोधक क्षमता को विकसित करना।
  8. पाचन तंत्र विकारों को दूर करना।
  9. पांडू रोग (खून की कमी) को दूर करना।
  10. जौंडिस विकार में सहायक होना।
  11. अम्लपित्त, रक्तपित्त, और दाह (जलन) को दूर करना।
  12. मानसिक कमजोरी, क्षय, और भ्रम (याददास्त की कमी) में सहायक होना।
  13. भोजन में अरुचि, भूख की कमी और मन्दाग्नि को दूर करना।
  14. रक्तार्श (खूनी बवासीर) की दाह (जलन) में सहायक होना।
  15. लीवर विकारों को दूर करना।
  16. पाण्डु, कामला, और पिलिया में सहायक होना।
  17. पुरानी कब्ज को दूर करना।
  18. छाती में जलन को दूर करना।

घटक: मुनक्का, गौ-घृत, शक्कर, जायफल, जावित्री, छोटी-इलायची, वंशलोचन, लोंग, दालचीनी, तेजपत्र, नागकेशर, कमल गट्टे की गिरी, और केशर जैसे घटक द्रव्य होते हैं। साथ ही, दूध और जल भी सहायक द्रव्य होते हैं।

मात्रा: 5-10 ग्राम, दिन में एक-दो बार या  चिकित्सक की सलाह के अनुसार|

Benefits of Drakshavaleha (with saffron) are numerous, such as:

  1. Strengthening the liver.
  2. Providing strength to the body.
  3. Overcoming deficiencies of various vitamins and minerals.
  4. Combating anemia.
  5. Facilitating energy metabolism.
  6. Alleviating respiratory disorders like cough, cold, and asthma.
  7. Enhancing the immune system.
  8. Improving digestive system disorders.
  9. Treating anemia.
  10. Assisting in jaundice conditions.
  11. Alleviating acid reflux, bleeding disorders, and burning sensation.
  12. Aiding mental weakness, tuberculosis, and cognitive impairments (memory loss).
  13. Stimulating appetite, overcoming anorexia, and correcting sluggish digestion.
  14. Assisting in bleeding hemorrhoids.
  15. Resolving liver disorders.
  16. Supporting in conditions like anemia, jaundice, and hepatitis.
  17. Relieving chronic constipation.
  18. Alleviating chest burning sensation.
  19. Ingredients include: raisins, cow ghee, sugar, nutmeg, mace, cardamom, cinnamon, bay leaf, saffron, lotus stem extract, cloves, and milk, along with water.

Dosage: 5-10 grams, one to two times a day or as per the advice of a physician.


5.0
Based on 1 reviews
5
1
4
0
3
0
2
0
1
0